प्यास बुझानी है तो उड़ जा पंछी शहर की सरहदों से दूर, यहाँ तो तेरे हिस्से का पानी भी प्लास्टिक की बोतलों में बंद है
Share on:
Author: admin

1 thought on “”

Leave a Comment